ऑनलाइन: ऑनलाइन कंपनी Torra की मालकिन है अनाथ, गोद लिए मां बाप ने भी छोड़ दिया, फिर शुरू किया बिजनेस, कमाती है लाखो…!!!!

ऑनलाइन

ऑनलाइन: दोस्तों दुनिया ही नहीं हमारा देश भी अब महिला सशक्तिकरण की ओर काफी तेजी से बढ़ रहा है आज हर कोई अपना खुद का कारोबार शुरू कर सकता है और अपनी पहचान बना सकता है। आज हम आपको ऑनलाइन कंपनी तोरा की मालकिन के बारे में बताने वाले हैं जिन्होंने भी काफी मुश्किलों से लड़ते हुए अपना यह काम शुरू किया और आज वह लाखों कम आती है और काफी लोगों को रोजगार देती है।

ऑनलाइन

मुंबई के भिवंडी की रहने वाली कल्पना वंदना उर्फ आनंदी एक अनाथ थी जिसे दो-तीन साल की उम्र में ही पुलिस ने अनाथालय में भर्ती करवाया था जिसके बाद में उन्हें भिवंडी के ही एक दंपति ने अडॉप्ट कर लिया और अपने साथ ले गए। लेकिन जब वह है 13–14 साल की हुई तो उसके माता-पिता में अनबन शुरू हो गई और उनका रिश्ता टूटने पर भी बात आ गई। इन सब का असर कल्पना वंदना पर पड़ने लगा और उसकी मां ने उसे खरी-खोटी सुनाने लग गई तथा उसे मर जाने तक का कहने लग गई।

ऑनलाइन

कल्पना की मां कहती थी कि मैंने इसको अडॉप्ट करके बहुत बड़ी गलती कर दी है इसकी जगह अगर मैं बेटे को अडॉप्ट करती हुई तो काफी अच्छा रहता इस लड़की को अडॉप्ट करके मैंने पैर पर कुल्हाड़ी मार ली। वह दंपति भी एक दूसरे से अलग हो गए थे जिसके बाद में घर की स्थिति काफी बिगड़ गई। वंदना ने अपनी हाई स्कूल की पढ़ाई करने के बाद नौकरी करना शुरू कर दिया और पढ़ाई भी करती रही। आगे अच्छी नौकरी पाने के लिए वंदना ने मास कम्युनिकेशन का कोर्स भी किया और कई मीडिया संस्थान तथा पिया कंपनी के साथ काम किया।

ऑनलाइन: पति ने भी छोड़ा

कल्पना के दोस्तों ने उससे शादी करने के लिए मनाया तो वह एक लड़के से मिली और अपने बारे में सब कुछ उसे बता दिया कि वह एक अनाथ है और उसको एडॉप्ट करने वाले माता-पिता ने भी उसे छोड़ ही दिया है। उस समय उस लड़के को इन बातों से कोई भी दिक्कत नहीं थी लेकिन शादी करने के बाद उसके पति ने उसका नाम बदलने पर भी दबाव डाला और उसका नाम आनंदी कर दिया। इसके बाद भी वह उसे बहुत मारता रहता था तथा उनके बीच इस बारे में बहुत लड़ाई होती थी। पति का नेटवर्क मार्केटिंग का बिजनेस था और कल्पना अब एक घर की नौकरानी की तरह है रहने लग गई थी। मारपीट में उसको खून भी आ जाते थे।

ऑनलाइन

कल्पना के दोस्तों ने उसे फिर से एक सलाह दी और बच्चा कर लेने की बात कही। जब कल्पना ने यह बात अपने पति से कही तो उसने उसको बेइज्जत करते हुए यह बोल दिया कि तेरी औकात नहीं है मां बनने की। इसके बाद में कल्पना ने अपने पति को तलाक दे दिया और अलग हो गई।

ऑनलाइन: इस शुरू किया अपना बिजनेस

कल्पना हम सभी कॉलेज में पढ़ती थी तो उस दौरान उसे साड़ी पहनने का काफी शौक था और फोटोस सोशल मीडिया पर शेयर करती रहती थी। उसकी फोटोस उसके दोस्तों को काफी पसंद आती थी तथा कल्पना से वैसे ही साड़ियां उनके लिए लाने की बात करती थी। इस बात से कल्पना को एक स्टार्टअप करने का आइडिया आया और उसने एक कंपनी बना ली। तलाक के बाद मकान मालिक ने उस को घर से निकाल दिया। उसके बाद में यह वह कोल्हापुर आई और अपने स्टार्टअप को शुरू करने के लिए काम करने लग गई। अब कल्पना ने अपनी एक कंपनी खड़ी कर ली है जिसका नाम तोरा है। एक ऑनलाइन ई-कॉमर्स कंपनी है जिसमें साड़ी और अन्य प्रोडक्ट बेचे जाते हैं। कल्पना अब लाखों कम आती है तथा काफी लोगों को रोजगार भी देती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *