जज़्बा

IAS Vishakha Yadav : जानिये दिल्ली की विशाखा की कहानी, किस तरह दो असफलताओं के बावजूद यूपीएससी की परीक्षा में पाया ऑल इंडिया रैंक 6

IAS Vishakha Yadav : देश की सबसे प्रतिषिठित और कठिन परीक्षाओं में से एक है सिविल सेवा परीक्षा। इसे औपचारिक रूप से संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) परीक्षा के रूप में जाना जाता है। इस परीक्षा में कुछ भाग्यशाली या कठिन परिश्रम करने वाले कुछ उम्मीदवार पहले ही प्रयास में सफल हो जाते हैं, तो वहीं कुछ कई प्रयासों के बाद सफलता का स्वाद चखते हैं। इस आर्टिकल में हम आपकों दिल्ली की रहने वाली विशाखा यादव के बारे में बताने वाले हैं, जो पहले दो प्रयासों में प्रीलीम्स परीक्षा पास करने में कामयाब नहीं हो पायीं, लेकिन तीसरे प्रयास में उन्होंने शानदार सफलता प्राप्त की और पूरे देश में छठा रैंक हासिल किया।

दिल्ली के द्वारका की रहने वाली विशाखा यादव (IAS Vishakha Yadav) बचपन से ही पढ़ाई-लिखाई में अच्छी रहीं। स्कूल में अक्सर वे परीक्षाओं में अव्वल आया करती थीं। स्कूल के बाद, उन्होंने दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन किया और नौकरी करने लगीं। दो साल काम करने के बाद विशाखा ने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी। विशाखा के इस सपने को पूरा करने में उनके परिवार ने भी उनका पूरा साथ दिया।

IAS Vishakha Yadav

IAS Vishakha Yadav : दो प्रयासों में उन्हें सफलता हाथ नहीं लगी

हालांकि, यूपीएससी की तैयारी का निर्णय विशाखा के लिए मुश्किल जरूर साबित हुआ। पहले दो प्रयासों में उन्हें सफलता हाथ नहीं लगी, लेकिन दो बार विफल होने के बाद भी विशाखा ने हार नहीं मानी और तीसरे प्रयास की तैयारी शुरू कर दी।

दो बार मिली असफलताओं के बावजूद, विशाखा यादव (IAS Vishakha Yadav) ने कड़ी मेहनत की और तीसरे प्रयास में उन्होंने न केवल परीक्षा पास की बल्कि ऑल इंडिया में छठा रैंक भी हासिल किया। विशाखा बताती हैं कि उन्होंने पहले दो प्रयासों के लिए बहुत सारी अध्ययन सामग्री तैयार की थी, लेकिन रिवीजन पर ध्यान नहीं दिया, न ही प्रीलिम्स के पहले मॉक टेस्ट पर ध्यान दिया था।

विशाखा अन्य उम्मीदवारों को सलाह देती हैं कि वे प्रीलिम्स के लिए परीक्षा से पहले ज्यादा से ज्यादा मॉक टेस्ट में शामिल हों। विशाखा ने कहा कि सिविल सेवा की तैयारी करने वाले उम्मीदवारों को रोजाना 6 से 8 घंटे लगातार पढ़ाई करने की जरूरत है। कई किताबों के बजाय कुछ सीमित किताबों को पढ़ने पर ध्यान दें और उत्तर लिखने का अभ्यास करें। अपनी गलतियों को समझें और उन्हें लगातार सुधारते हुए हर दिन बेहतर करने पर ध्यान दें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button