जज़्बा

IAS Sreenath K : जानिए कैसे बने श्रीनाथ आईएएस, कभी करते थे रेलवे स्टेशन पर कुली का काम

IAS Sreenath K : अक्सर आपने यूपीएससी की परीक्षा उन्हीं लोगों को बात करते हुए देखा होगा जो मुश्किल और कठिन परिस्थितियों से गुजरते हैं और लोगों के सामने एक मिसाल पेश करते हैं। वैसे तो लाखों अभ्यार्थी यूपीएससी की परीक्षा के लिए उतरते हैं लेकिन इसमें से बहुत ही कम लोग होते हैं जो यह परीक्षा पास करते हैं। ऐसी ही एक संघर्ष की कहानी है यूपीएससी परीक्षा पास करने वाले श्रीनाथ के की।

केरल के मुन्नार जिला निवासी श्रीनाथ के एक मध्यम परिवार से ताल्लुक रखते हैं। परिवार को चलाने के लिए वह एक कुली का काम करते हैं। साल 2018 में 27 साल की उम्र में उन्हें यह महसूस हुआ कि यह आय परिवार के लिए पर्याप्त नहीं पड़ती है। उस समय उनकी 1 साल की बेटी भी थी इसीलिए उसे अच्छा बचपन देने के लिए उन्होंने कुछ बेहतर करने का फैसला किया।

IAS Sreenath K

IAS Sreenath K : सिविल सेवा सर्विसेज की तैयारी करने का मन बनाया

उन्होंने ₹400 और ₹500 प्रतिदिन से अधिक काम करने के लिए रात में भी कुली का काम करना शुरू कर दिया। इसके बावजूद भी वह पर्याप्त नहीं था इसके बाद उन्होंने सिविल सेवा सर्विसेज की तैयारी करने का मन बनाया और तैयारी करने में लग गए।

श्रीनाथ के पास कोचिंग करने के पैसे नहीं थे और ना ही इतना समय था कि वह काम छोड़ कर पढ़ाई पर ध्यान दे सके, इसीलिए श्रीनाथ ने रेलवे के मुफ्त वाईफाई का प्रयोग किया और वहीं पर तैयारी शुरू कर दी। काम से जब भी समय मिलता तो वह मोबाइल फोन के जरिए पढ़ाई किया करते थे।

श्रीनाथ मोबाइल फोन के जरिए ऑनलाइन लेक्चर सुनते और ऑनलाइन उपलब्ध नोट की भी तैयारी करते थे। इसके बाद उन्होंने केपीएससी परीक्षा बात कर ली और यूपीएससी की तैयारी में जुट गए और चौथे प्रयास में उन्होंने यूपीएससी 2021 में सफलता प्राप्त कर ली तत्कालीन रेल मंत्री ने उन्हें बधाई भी दी थी।

Also Read : IAS Ramesh Gholap : कभी पिता का अंतिम संस्कार करने के लिए भी नहीं थे पैसे और गरीबी के चलते मां के साथ बेची चूड़ियां लेकिन आज बने आईएएस ऑफिसर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button