जज़्बा

IAS Shreenath Success Story: मिलिए ऐसे कूली से जिसने रेलवे के फ्री वाईफाई से की आईएएस की तैयारी

IAS Shreenath Success Story: कहते हैं कामयाबी सिर्फ उन्हें ही मिलती है जिनकी किस्मत में लिखी होती है परंतु अगर लोगों में इरादा हो तो वह अपनी मंजिल खुद ही ढूंढ लेते हैं। ऐसे ही कुछ मजबूत इरादों के साथ एर्नाकुलम स्टेशन पर कूली का काम करने वाले इस युवक ने कर दिखाया है। जिसने अपने घर की जिम्मेदारियों के साथ-साथ अपने किस्मत खुद ही लिख ली है और यूपीएससी के एग्जाम में सफलता हासिल की है। कुछ साल पहले तक कूली का काम करने वाला यह शख्स आज आईएएस ऑफिसर बन गया है और दुनिया में एक मिसाल कायम की है।

यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन की इस परीक्षा को पास करने के लिए हर साल लाखों अभ्यार्थी इस परीक्षा में बैठते हैं और अपनी किस्मत को आजमाते हैं इसके लिए लाखों रुपए देकर कई वर्षों तक कोचिंग तक लेते हैं, लेकिन मूल रूप से केरल के रहने वाले श्रीनाथ (IAS Shreenath Success Story) ने रेलवे स्टेशन पर कुली का काम करते हुए और बिना किसी कोचिंग की मदद से ना केवल यूपीएससी में कामयाबी हासिल की बल्कि इससे लोगो के सामने 1 मिसाल कायम की। केरल पब्लिक सर्विस कमीशन के एग्जाम में भी अपने नाम का परचम लहरा चुके हैं।

श्रीनाथ जो कोचिंग सेंटर की फीस अफॉर्ड नहीं कर सकते थे और उनके मन में केवल एक ही बात थी कि वह इस कठिन परीक्षा को बिना कोचिंग के पास नहीं कर पाएंगे। जिसकी वजह से उन्होंने केपीएससी की तैयारी करनी शुरू की। इसके बाद रेलवे स्टेशन पर लगे फ्री वाईफाई ने उनकी मुश्किल को आसान बना दिया। उन्होंने फ्री वाई फाई से अपने स्मार्टफोन पर पढ़ाई शुरू की।

यह वाईफाई उनके लिए किसी भी वरदान से कम नहीं था। यहां पर कुली का काम करते और जो समय मिलता उसमें ऑनलाइन लेक्चर सुनने लगते थे। अपनी इसी लगन और मेहनत के दम पर श्रीनाथ (IAS Shreenath Success Story) में केपीएससी में सफलता हासिल कर ली। उनके मन में यह विश्वास आ गया कि नहीं इसी तरह से फ्री वाईफाई की मदद से यूपीएससी की परीक्षा भी पास कर सकते हैं और उन्होंने ऐसा कर दिखाया।

ऐसे में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में सफलता हासिल करने पर श्रीनाथ को बधाई देते हुए ट्वीट भी किया था। इसमें रेल मंत्री ने लिखा रेलवे के निशुल्क वाईफाई से केरल में कूली का कार्य करने वाले श्री नाथ के जीवन में एक बहुत ही बड़ा परिवर्तन आया है। स्टेशन पर उपलब्ध wifi के उपयोग से उन्होंने तैयारी कर परीक्षा में सफलता प्राप्त की है। मैं उनकी सफलता पर उन्हें बहुत बधाई और भविष्य के लिए शुभकामना देता हूं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button