जज़्बा

सफलता किसी की मोहताज नहीं: बस कंडक्टर की बेटी Amisha ने 10वीं में टॉप कर मुहावरे को सही साबित किया

Amisha Sucess Story: देश के कई राज्यों में 10वीं और 12वीं का रिजल्ट जारी हो गया है तो कई राज्यों में जारी किया जा रहा। इस बीच कई ऐसे साथ देखने को मिले जिन्होंने अपनी कड़ी मेहनत से अच्छे अंक लाकर माता-पिता का नाम समाज में ऊंचा किया। इस लिस्ट में हरियाणा की अमिशा (Amisha) भी शामिल है। उन्होंने अपनी कड़ी मेहनत और लगातार फोकस के जरिए प्रदेश में टॉप किया है। अमिशा (Amisha) ने 500 में से 499 अंक प्राप्त किया।

हरियाणा रोडवेज में बस कंडेक्टर है Amisha के पिता

अमिशा (Amisha) भिवानी जिला के मढाणा गांव की निवासी है। उसके पिता वेद प्रकाश हरियाणा रोडवेज में कंडेक्टर की नौकरी कर परिवार चलाते है। वहीं मां हाउस वाइफ है।

ऐसे में अमिशा (Amisha) के घर की आर्थिक स्थिति हमेशा से ही तंगी में रही है। यहीं वजह थी कि अमिशा (Amisha) बजपन से ही पढ़ाई को लेकर सिरियस थी, क्योंकि उसे पता था कि उसके परिवार की दिक्कतें को सिर्फ शिक्षा ही दूर कर सकती है।

Amisha

टॉपर Amisha हमेशा से करना चाहती थी इंजीनियरिंग

भिवानी के ईशरावल पब्लिक स्कूल में पढ़ने वाली अमिशा ने 10वीं के एग्जाम में खूब मेहनत करके पढ़ाई की और हरियाणा की टॉपर बन गई।

टॉप करने पर अमिशा ने बताया कि वह हमेशा से इंजीनियरिंग करना चाहती थी। इसके लिए मुझे JEE एडवांस की परीक्षा में भी अच्छे अंक लाने होंगे। जिसके लिए मैंने अभी से ही तैयारी करनी शुरू कर दिया है। मुझे इंजीनियरिंग में कंप्यूटर साइंस ब्रांच चाहिए। जिसके लिए अच्छे अंक की जरुरत होती है। मैंने अभी से ही दिन भर में 5 से 6 घंटे पढ़ती हूं। साथ ही घर का काम कर खुद को रिलेक्स भी करती हूं।

Amisha

ये भी पढ़े- ऑटो चालक की बेटी बनी गांव की पहली महिला डॉक्टर

इधर, अमिशा के 10वीं में टॉप करने पर पिता समेत पूरा परिवार खूशी से झूम उठा है। घर में जबरदस्त खूशी का माहौल है। हर दिन कोई ना कोई रिश्तेदार घर पर आकर बधाई दे रहे है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button