Success Story: दहेज के लिए पति ने छोड़ा, बिना इंटरनेट के गांव में रहकर की तैयारी, कड़ी मेहनत से बनी IRS अफसर

Success Story

Success Story: दुनिया में सभी के सामने मुश्किल हालात आते रहते हैं. लेकिन अपनी मंजिल पाने के लिए उस व्यक्ति को ही मुश्किल हालातों से होकर गुजरना पड़ता है. जो इन हालातों को पार कर लेता है वह अपनी मंजिल पा ही लेता है. हम आपको ऐसी ही एक महिला के बारे में बताएंगे, जिसे जिंदगी में शादी के बाद दहेज के लिए तलाक मिला और फिर घर छोड़कर भी रहना पड़ा है.

 

Success Story

Success Story: शादी के कारण टूटा सपना

कोमल बचपन से काफी होशियार थी. गुजरात के अमरेली में जन्मी कोमल ने अपनी शुरुआती पढ़ाई गुजराती मीडियम से की थी. लेकिन उन्होंने आगे अलग-अलग तीन भाषाओं में अपनी यूनिवर्सिटी की पढ़ाई पूरी की. इनका सपना था कुछ बड़ा करके अपने माता-पिता का नाम रोशन करना. लेकिन 26 साल की उम्र में शादी होने से उनका यह सपना बीच में ही टूट गया.

Success Story

Success Story: NRI से हुई शादी

कोमल की जिंदगी में उस वक्त सबसे बड़ा तूफान आया जब 2008 में न्यूजीलैंड के एक NRI लड़के से इनकी शादी हो गई. शादी के समय इन्होंने गुजरात लोक सेवा आयोग की मेंस परीक्षा पास कर ली थी. शादी होने के कारण वह इंटरव्यू में भाग नहीं ले पाई. इसलिए शादी के बोझ तले उनकी सारी खुशियां और सपने दब गए.

Success Story

Success Story: दहेज के कारण टूटी शादी

शादी के 15 दिन बाद ही उनके जीवन में कुछ ऐसा भूचाल आया कि सब कुछ तहस-नहस हो गया. कोमल के ससुराल वाले दहेज के लोभी निकले और उन्होंने दहेज के लिए उसे घर से निकाल दिया. कोमल के बचाव के लिए उनके पति भी बीच में नहीं आए और 15 दिन बाद ही वह अपनी नौकरी करने विदेश चले गए. जहां से वह कभी लौटकर वापस नहीं आए. कोमल ने उनको बहुत खोजा लेकिन उनका कोई पता नहीं चला.

Success Story

Success Story: मुश्किलों से लड़कर हासिल की मंजिल

दहेज के लोभी होने कोमल को घर से निकाल दिया तो कोमल अपने घर माता पिता के पास वापस आ गई. लेकिन यहां भी समाज के ताने सुनने पड़े. इसलिए उन्होंने घर छोड़कर कहीं दूर जाने का फैसला कर लिया. कोमल घर से दूर एक गांव में रहने लगी, जहां इंटरनेट की सुविधा भी नहीं थी और कोई अंग्रेजी अखबार भी नहीं आता था. इसके बाद भी उन्होंने हिम्मत रखते हुए अपनी तैयारी जारी रखी और अपना खर्च चलाने के लिए स्कूल में पढ़ाती रही.

कोमल ने तीन बार यूपीएससी की परीक्षा दी लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली. इसके बाद कोमल ने हार ना मानते हुए चौथी बार भी परीक्षा दी. इस बार कोमल को मेहनत का फल उन्हें मिल ही गया और कोमल ऑल इंडिया 591वीं रैंक से IRS ऑफिसर बन गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *