जरा हटके

प्रधानमंत्री की सुरक्षा में तैनात एसपीजी (SPG) कमांडो को हर महीने मिलती है इतनी सैलरी

भारत का जो प्रधानमंत्री होता है उसकी जिम्मेदारी पूरे देश की होती है जिसकी वजह से इस पद को संभालने में बहुत सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। अलग-अलग राज्यों में दौरे के लिए जाना पड़ता है। इस दौरान प्रधानमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदारी Special protection group (SPG) कमांडो पर होती है।

यह कमांडो जो होते हैं वह परछाई की तरह हर समय प्रधानमंत्री के साथ रहते हैं, ताकि उन पर किसी भी प्रकार की मुसीबत आए तो वह उसका सामना कर पाए परंतु, क्या आपने कभी सोचा है कि पीएम की सुरक्षा की जिम्मेदारी जो लोग उठा रहे हैं उन्हें कितनी सैलरी मिलती होगी और किस प्रकार की सुविधाएं दी जाती होगी।

हमारे देश में आर्मी नेवी और एयरफोर्स के लिए भर्ती निकाली जाती है, जिसमें देश के बहुत सारे युवा हिस्सा लेते हैं और विभिन्न पड़ाव पार करके भारतीय सेना का हिस्सा बनते हैं, लेकिन SPG  कमांडो बनने के लिए किसी प्रकार की भर्ती की प्रक्रिया नहीं होती है, क्योंकि इस पद के लिए IPS, CRPF, BSF, CISR के बेहतरीन सदस्यों का ही चुनाव किया जाता है।

प्रधानमंत्री

एसपीजी कमांडो को हमेशा के लिए प्रधानमंत्री की सुरक्षा नहीं दी जाती

एसपीजी कमांडो के रूप में उन्हें जवान को चुना जाता है जो अपनी नौकरी के प्रति अधिक सक्रिय और ईमानदार होते हैं। हालांकि कोई भी एसपीजी कमांडो को हमेशा के लिए पीएम की सुरक्षा नहीं दी जाती है। हर साल इन्हें बदल दिया जाता है। इनका कार्यकाल महज 1 साल का ही होता है और उन्हें दोबारा से उनकी मूल कोचिंग पर भेज दिया जाता है।

एसपीजी कमांडो की नौकरी जिम्मेदारी वाली होती है इसीलिए इस काम के लिए जिन जवानों को चुना जाता है उनको कठिन ट्रेनिंग से होकर गुजरना पड़ता है। लेकिन वह पहले से ही भारतीय सेना का हिस्सा होते हैं और ट्रेनिंग कर चुके होते हैं। इसके बावजूद भी उन्हें खास तरह की ट्रेनिंग दी जाती है।

अगर एसपीजी कमांडो की तनख्वाह की बात की जाए तो प्रतिमाह तनख्वाह 53,100 से 69,500 रुपए के बीच में होती है, जिसमें सालाना 40% सैलरी ड्रेस भत्ता भी जोड़ा जाता है। इसी के साथ आपको बता दें कि ऑपरेशन ड्यूटी में तैनात एसपीजी कमांडो को 27,800 रुपए और नॉन ऑपरेशन ड्यूटी वाले कमांडो को 21,225 रुपए सालाना ड्रेस भत्ता दिया जाता है।

Also Read : नरेद्र मोदी जी से जुड़े कुछ रोचक तथ्य व कथ्य

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button