फिलिस्तीनी किसान पौधे लगाने के लिए कर रहा था खुदाई और मिला उसे बेशकीमती खजाना

फिलिस्तीनी किसान

आपने अक्सर फिल्मों में देखा होगा जमीन खोदने पर खजाने से भरा बक्सा मिला हो। ऐसी घटनाएं अक्सर फिल्मों में ही दिखाई जाती है लेकिन वास्तविकता में यह घटना बहुत ही कम सुनने को मिलती है, लेकिन इजरायल के गाजा पट्टी में एक ऐसा ही मामला सामने आ रहा है। जहां एक फिलिस्तीनी किसान जमीन में खुदाई कर रहा था और खुदाई करते समय उसे खजाना मिल गया। विशेषज्ञों का कहना है कि यह अभी तक का सबसे पुरातात्विक खजाना है।

मीडिया खबर के अनुसार एक फिलिस्तीनी किसान पौधा लगाने के लिए जमीन की खुदाई कर रहा था तभी उसे जमीन में बक्से जैसी कोई चीज दिखाई देने लगी। उस किसान ने फिर अपने बेटे के साथ मिलकर 3 महीने तक खुदाई की और उस खुदाई को करने के बाद बेशकीमती खजाना हाथ लगा। एक्सपर्ट का कहना है कि यह उस इलाके में मिला अब तक का सबसे बड़ा पुरातात्विक खजाना है।

फिलिस्तीनी किसान

फिलिस्तीनी किसान को बिजाटीन युग का एक अलंकृत मौजेक मिला

खबर के मुताबिक फिलिस्तीनी किसान को बिजाटीन युग का एक अलंकृत मौजेक मिला है जो उसने पुरातात्विक विभाग को सौंप दिया है और अब किसान को धरोहर की रक्षा के लिए मुआवजा दिए जाने की भी बात चल रही है। ऐसा कहा जा रहा है कि जिस इलाके में यह खजाना मिला है वह हमेशा इजराइल और फिलिस्तीनी के बीच संघर्ष का खतरा बना रहता था इसीलिए इस पुरातात्विक खजाने की सुरक्षा की चिंता भी जताई जा रही है।

गाजा के जिस इलाके में यह खजाना मिला है वह इजरायल के बॉर्डर से महज 1 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। सबसे बड़ी बात यह है कि यह खजाना अभी भी काफी अच्छी कंडीशन में दिखाई दे रहा है। इस खजाने को लेकर पुरातत्व विभाग के एक अधिकारी ने यह भी बताया है कि यह खजाना पांचवी से सातवीं शताब्दी के बीच का जान पड़ रहा है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्राचीन काल में गाजा पट्टी मिश्र और लेवेंट के बीच ट्रेड का बहुत ही महत्वपूर्ण रूट था। जिस किसान की जमीन पर यह खजाना मिला है उन्होंने इस बेशकीमती खजाने को टीन की शीट से ढक कर रखा है। किसान ने यह भी कहा है कि उन्हें उम्मीद है इस अनोखे खोज की रक्षा के लिए सरकार की तरफ से मुआवजा दिया जाएगा।

Also Read : एक रिटायर फौजी खेती करके कमाते हैं अब लाखों रुपए सिखा रहे हैं किसानों को किसानी करना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *