Motivational Story: दिहाड़ी मजदूरी करने वाली औरत मेहनत करके बन गई सफल बिजनेस वुमन, जाने आज कितनी करती है कमाई

Motivational Story

Motivational Story: आज हम आपको एक ऐसी औरत की कहानी बताने जा रहे हैं जो पहले दिहाड़ी मजदूरी करती थी लेकिन अपनी मेहनत और लगन से आज एक सफल बिजनेस वुमन बन चुकी है. हम बात कर रहे हैं उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले की रहने वाली आशा देवी की. आज वह महिला कुशल एंटरप्रेन्योर है.

Motivational Story

Motivational Story: मजदूर बनी बिजनेस वुमन

कुछ समय पहले तक आशा देवी अलीगढ़ के टप्पल इलाके में मेहनत मजदूरी करके अपने पति के साथ घर चलाती थी. इसके बाद साल 2015 में उन्होंने कमाई करके थोड़ा बहुत पैसा बचाना शुरू कर दिया. उन्हें वाटर प्यूरीफायर का एक आईडिया आया. आशा देवी ने वाटर प्यूरीफायर आरओ प्लांट लगाने के बारे में सोचा. इस बिजनेस को शुरू करने के लिए उन्होंने ₹50,000 का लोन लिया और अपने जमा किए हुए 1.5 लाख रुपए लगा दिए.

Motivational Story

Motivational Story: अब जी रही अच्छा जीवन

आशा देवी ने सबसे पहले सीआरपी-ईपी की मदद ली और बीआरसी ऑफिस, ब्लॉक ऑफिस और जट्टारी के लोगों के साथ मिलकर टप्पल के दुकानदारों तक पानी पहुंचाने का काम शुरू किया. धीरे-धीरे आशा देवी का परिवार भी उनकी मदद करने लगा. इसकी बदौलत आशा देवी और उनका परिवार आज हर रोज अच्छी कमाई कर रहा है. इसी बिजनेस के कारण आशा देवी अपने परिवार के साथ एक अच्छा जीवन जी रही हैं.

इसके अलावा आशा देवी आगे बढ़ने के तरीके भी खोज रही हैं. उन्होंने अपने व्यापार को आगे बढ़ाने के बारे में सोचा है. उन्होंने सोचा है कि अब आसपास के शहरों और दुकानों पर पैकेज्ड वॉटर बॉटल से पानी पहुंचाया जाए.

Motivational Story

Motivational Story: इस तरह मिली मदद

आशा देवी इतना सब कुछ स्टार्टअप विलेज एंटरप्रेन्योरशिप के कारण कर पाई हैं. आशा देवी को कम्युनिटी रिसोर्स पर्सन एंटरप्राइजेज प्रमोशन ने एसवीपी से मिलाया था. इस कम्युनिटी ने ही आशा देवी का मार्गदर्शन किया था.

मिशन निदेशक भानु गोस्वामी का कहना है कि, अभी तक यह कार्यक्रम 18 जिलों और 19 विकास खंडों में चालू किया गया है. इस कार्यक्रम के द्वारा अब तक राज्य के 15804 महिलाओं को व्यवसाय दिया जा चुका है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *