लॉकडाउन पर अपने समय का सही इस्तेमाल कैसे करें ?

How to Use Your

Time in Lockdown in

Hindi

Corona virus विश्व के सामने महामारी के रूप में उभर के सामने आई हैं. मीडियाँ ख़बरो की माने तो इस समय पूरे विश्व में 5 लाख लोग से भी अधिक ‘कोरोना’ Positive केश पाये गये हैं. ‘कोरोना’ से मरने वाले लोगों की संख्या 17 हजार के आकड़े को भी पार कर चुकी हैं और यह संख्या दिनों-दिन बढ़ती ही जा रहीं हैं. हमारे देश में ‘कोरोना’ से मरने वालों की संख्या अभी 17 हो चुकी हैं. वहीं ‘कोरोना’ पाँजिटिव केश की संख्या 727 पहुँच गयी हैं वहीं 768 ‘कोरोना’ सम्भावित केश भी हो गये हैं. और हो सकता हैं जब आप इस पाँस्ट को पढ़ रहें हो तो ये आकड़े कुछ और हो, चूँकि आँकड़ो की रफत्तार बहुत तेजी के साथ बढ़ रहीं हैं.  संकट की इस घड़ी में पूरे देश को बताये गये कानून के नियमों का पालन शक्ती के साथ करने चाहिए.

क्यों लगा हैं 21 दिनों का

Lockdown ?

25 मार्च से 14 अप्रैल तक 21 दिनों का समय प्रधानमंत्री ने देश के लोगों से मांगा हैं. ताकी देश से ‘कोरोना’ वायरस को जड़ से खत्म किया जा सकें.

ऐसी क्या वजह हैं ?

दरअसल यह बिमारी जिस जगह उत्पन्न हुई उसे हम First stage कहेगें. जो कि इस वायरस का Born center china हैं. वहाँ से जो लोग इस वायरस से संक्रमित होकर अपने देश में आये, वह हो गई Second stage.
दूसरी Stage के लोगों को पकड़ना तो आसान था लेकिन Third stage को पकड़ना मुश्किल था. क्योकि Second stage वाले ने अपनी यात्रा के दौरान कहां-कहां वायरस को छोड़ा हैं. उसे पकड़ पाना बहुत मुश्किल काम था. जब बड़े से बड़े विकसित देशों ने घुटने टेक दियें तो अपने देश की तो इतनी अच्छी स्थिति भी नहीं हैं. ऐसे में एक ही उपाय था. Chain reaction को तौड़ना.
जब लोग अपने-अपने घरो में कैंद हो जायेगें तो उन्हें आसानी से चिन्ह्त किया जा सकेगा.

कैसे होगें ‘कोरोना’ वायरस

मरीज चिन्ह्त ?

‘कोरोना’ वायरस किसी को भी हो सकता हैं. यह ज्यादातर बच्चों व बुजर्गो को अपना पहला शिकार बनाता हैं. क्योकि इन्हीं का इम्यून सिस्टम कमजोर होता हैं. ऐसे में आपको Precaution लेने की जरूरत हैं.
बाहर से आये हुए संक्रमित व्यक्ति से जब कोई दूसरा व्यक्ति सम्पर्क में आता हैं. तब यह Third stage होगी.
Lockdown की स्थिति में जब सब लोग अपने-अपने घरो में होगें तब ऐसे लोग 14 दिनों के अंदर पकड़ में आ जायेगें और यह लोग आगे नहीं बढ़ा पायेगें.
चीन के वुहान शहर की सही स्थिति होने की वजह भी यही बताई जा रहीं हैं. वुहान शहर को भी 67 दिनो के लिए 100% Lockdown कर दिया गया था.
जरूर पढ़ें :

घर पर रह कर क्या करें ?   

* आप 21 दिनो में अपने अंदर कोई ऐसी आदत को डालियें जो आपको सबसे अच्छी लगती हैं फिर चाहें वो पढ़ना हो, लिखना हो, योग व एक्सरसाइज हो. कोई भी गतिविधि जो आपको पसंद हो और जो रोज कर सकें. उसे शुरू कीजियें.
* आप Public Speech की तैयारी कर सकते हैं.
* आपको घर में रहकर बड़े-बुजर्गो के पास बैठने का अवसर मिल रहा हैं. उनके साथ समय गुजारियें.
* महिलाएं रसोई के बहुत सारे काम करना सीख सकती हैं.
*  अपनी दादी-नानी से अचार बनाना सीख सकती हैं.
* दिनो-दिन बाहर के खाने की आदत को छोड़कर घर का स्वच्छ व स्वादिष्ट खाना बनाना सीख सकते हैं.
बाहर के बासे व ओवन में कई दिनो के खाने को गर्म करके खाने की आदत ने हमें आलसी व आदी बना दिया था.
* स्वादिष्ट अचार बनाना सीख सकती हैं.
* छोटे बच्चों को दादा-दादी के संस्कार सीखने को मिलेगें. उनके जीवन के अनुभवो को जानने का अवसर मिलेगा.

Lockdown की स्थिति में

रसोई कैसे चलायें ?    

माना कि परेशानी गम्भीर हैं. हमें Swiggy, zomato food service वाला खाना खाने की आदत हो गई हैं. ऐसे में हो सकता हैं कि कई बार आपको हरी सब्जियाँ न मिले. ऐसे में आपको वापस अपने पुराने दिनो अपने बचपन के दिनों में लौटना होगा.
आपको याद हैं, जब सब्जी आपके पीछे दौड़ती थी और आप सब्जी के नाम से चिड़ते थे.
* गाँव में किसानों के यहाँ जब खेतो पर खाना जाता था या अभी जाता होगा तो वहां छप्पन भोग बनके नहीं जाते थे. पहले से तैयार कोई भी अचार या चाय खाने के जायके को ही बदल देता था.
* आप दाल-चावल बनाकर कुछ दिन निकाल सकते हैं.
* आप राजमा-चावल भी बना सकते हैं.
* सुबह चाय के साथ पराठे बनाके Break fast कर सकते हैं.
* अभी होली के कुछ सामान तो जरूर रखे होगें उनके साथ कुछ दिन गुजारियें.
* यदि आपके यहाँ चने रखे हो तो उनको भिगों कर सब्जी या नमकीन बना सकते हैं.
ऐसे बहुत से उपाय कियें जा सकते हैं. यह समय ही कुछ ऐसा हैं. जो हमें बहुत सी चीजों को सीखा कर जायेगा. और बहुत से लोगों को घाव भी देकर जायेगा.
“उन लोगों के बारे में सोचियें जो रोज कमाके खाते हैं. हम तो अपनी अवाज Social media पर जाहिर कर देते हैं. लेकिन ऐसे लोगों के पास न Social हैं और न Media.”
“एक वायरस ने हमें कितना बेबस व लाचार बना दिया हैं. परमाणु हथियारो तथा सभी सुख सुविधाओं से लेंस ताकतवर देश भी थम गये हैं. यह सकेंत हैं. प्रकृति से खिलवाड़ मत कीजिए.”
                          सुविचार 
“Lockdown आपका हुआ हैं आपके जुनुन का नहीं. अपने काम को घर में रहकर धार दीजिए.”
दोस्तों, आपको हमारी पाँस्ट पसंद आई हो तो अपने दोस्तों और ग्रुप में शेयर करेें. कमेंट करके हमेॆ अपने महत्वपूर्ण सुझाव दे सकते हैं.
                                                        धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *