जरा हटके

How to End Husband’s & Wife’s Quarrel in Hindi.

Husband Wife Quarrel in Hindi

दोस्तों, MJC पर स्वागत हैं. यहाँ आपको पढ़ने  मिलतें हैं Valuable post. जो कि Life development से Related post आपके जीवन को बेहतर बनाने में मदद करते हैं. आप हमेशा से  हमारा साथ निभाते आयें हैं. आप Title देख के समझ गये होगें कि Post में आप क्या जानने वाले हैं ?

आज की Post उन लोगों के लिए हैं जिनकी शादी होने वाली हैं या फिर हो गई हैं.

यह Post पूरी पढ़ना आपके लिए उतना ही जरूरी हैं जितना की सांस लेना. क्योकि हो सकता हैं कि इससे आपको कोई सीख मिल जायें या फिर आप खुद पहले से Mature हो तो अपने Friend circle में शेयर करके और लोगों की भी मदद कर सकते हैं. तो चलो शुरू करते हैं आज की पाँस्ट !
दोस्तों, जब दो अलग-अलग घरो में रहने वाले दो अलग विचार धारा वाले एक जीवन साथी के रूप में मिलते हैं. तो दोनों की एक दुसरे से बहुत सारी Acceptation होती हैं. जैसे :-
  • आपका जीवन साथी आपको आपसे भी थोड़ा ज्यादा ही जानता हो.
  • समझता हो.
  • आपको उसी स्वरूप में समर्पित रूप से स्वीकार भी करता हो, जैसे आप हैं.
  • समय पर आपकी उलझनों व समस्याओं के लिए सही व निष्पक्ष सलाह दे.
  • समर्पित होकर हर संभव मदद करे.
शुरूआत में अधिकतर सब कुछ सही चलता हैं हम गलत चीजों को भी सही Way में मानकर खुद के हिसाब से खुद को समझा लेते हैं. लेकिन जब आपस में बिगड़ने लगती हैं तो सही चीजें भी खराब लगने लगती हैं.
* यह स्थिति तभी create होती हैं जब हम व्यक्ति से नहीं वस्तुओं से लगाव बढ़ाते हैं.
* यह स्थिति तब create होती हैं जब हम सीरत से नहीं सूरत से लगाव रखने लगते हैं.
* यह स्थिति तब खराब होती हैं जब हमारे मन में बना चित्र, चरित्र की संवेदी सुचिता को प्रश्नचिन्हित करता हो.
समय के साथ हमारी महत्वकांक्षाएं भी बढ़ती हैं. जब वह इच्छाएँ पूरी नहीं हो रही होती या विचार नहीं मिल रहें होते तो एक-दूसरे के प्रति तनाव बढ़ जाता हैं. स्थिति यहाँ तक बिगड़ जाती हैं कि लोग झगड़ा करते-करते तलाक तक पहुँच जाते हैं. घरेलू हिंसा के Case होने लगते हैं. ऐसी बहुत सी समस्याएँ सामने आने लगती हैं.
तो ऐसी स्थिति उत्पन्न ही न हो या फिर रिश्ते को मधूरमय कैसे बना के रखा जायें ? तो चलिए शुरू से शुरू करते हैं.

Misundersatnding

        ( गलतफहमियां )

जब दो Partner के बीच झगड़ा हो जाता हैं. तो उसके बाद क्या होता हैं ? वही, एक-दूसरे से बोलना-चालना बंद, खाना नहीं खाना या फिर घर ना आना. चलिए मान लेते हैं कि आपने इनमें से कोई एक कारण को अपना हथियार के रूप में प्रयोग किया. बाद में क्या हुआ ?
जब रोजमर्रा की जिंदगी में झगड़े बड़ जातेे हैं. तब मुश्किले आ जाती हैं. यहाँ हम पाँस्ट में इसी झगड़े  को खत्म करने की बात कर रहें हैं.
अब यहाँ बात झगड़े को जड़ से खत्म करके समझने वाली हैं. ऐसा नहीं हैं कि आप दोनों के झगड़े होते हैं. नहीं, किसी एक का होता हैं. तो सबसे पहले आपको यह जानना जरूरी हैं कि आप दो अलग जीते जागते Energy हो.
आप Husband/Wife जो भी हैं. तो जब एक Energy दूसरी energy से मिलती हैं तो प्यार भी होता हैं और झगड़े भी होते हैं. यह बिल्कुल एक कैबिल में दो wire path way जैसा हैं. हम यहां प्यार के अंदर लाने की Technique बात कर रहें हैं. जब आप अपनी Energy higher level पर सेट करेगें. तो सामने वालें में बदलाव आने तय हैं. तो सबसे पहले अपने दिमाक में यह तय करें कि ‘आप’ में झगड़े होते हैं. आपने अपने Subconsiousc mind (अवचेतन मस्तिष्क ) में ये msz save किया हुआ हैं कि हम में झगड़े होते हैं. झगड़े आप में नहीं, आपके दिमाक में हैं. हम अपने आस-पास के Negative वातावरण की वजह से पहले ही तय कर चुके होते हैं कि सारा झगड़ा सामने वाले की वजह से हैं.
जैसे, आप बहुत सी छोटी बातो को लेकर Mind upset कर लेते हैं कि वो मेरी बात नहीं सुनती या फिर वो मेरी बात नहीं मनता. ऐसी न जाने कितनी समस्याएँ बेवजह पाल लेते हैं. हम दोनों कहाँ से एक दूसरे की जिंदगी में आ गयें. यह नहीं होना चाहिए.
Negative thinking (नकारात्मक सोच )
जब आपमें विश्वास की कमी होती हैं. तब आपके Subconsious mind में नकारात्मक विचार चलने शुरू हो जाते हैं. एक-दूसरे की अच्छी आदतें शादी से पहले पता थी लेकिन अब परेशान करने वाली आदतों का भी पता चलता है. जो बातें आकर्षित कर रही थी, वो समय के साथ लुप्त होते दिखई देने लगती हैं. शादी की मीठी परिकल्पना का व्यावहारिक सच जब सामने आने लगता है तो एक सपना टूटता सा लगता है. अपनी इच्छा से विचरण करती ज़िंदगी में एक ठहराव आने लगता है.

Exercise your subconscious mind  :

आपको रोज अपने आप में बदलाव करना हैं. आपको यह आदत ड़ालनी होगी और अपने Subconscious mind को msz देगें कि हमारे बीच में बहुत प्यार हैं. कोई झगड़ा नहीं हैं. शुरू के 2…5…10…20 दिन आपको झूठ लगेगा लेकिन 21 वे दिन आपके अंदर की Negative energy जा चुकी होगी. आप चाह कर भी सामने वाले के लिए मन में कोई दुर्भावना नहीं रख पायेगें. ये बदलाव दूसरो के लिए नहीं अपने लिए कीजिए.
आपने एक बात तो जरूर सुनी होगी कि “ऊर्जा को न तो बनाया जा सकता हैं और न नष्ट किया जा सकता हैं” इसलिए जो भी शब्द हम अपनी भाषा के जरियें दूसरों के लिए करते हैं. वहीं भावनाएँ Nagativity के रूप में वापस हमें दुर्भावना के रूप में देखने को मिलती हैं. 
 
“गाँधी जी ! ऐसे ही नहीं अपना दूसरा गाल मारने के लिए आगे करते थे. उन्हें इस नियम के बारे में बखूबी पता था. तभी तो आज वो राष्ट्र के पिता हैं.”
 
“आपने अपना नज़रियाँ बदला और आपके नज़किये ने आपके विचार बदल दियें. झगड़ा सामने वाले में नहीं खुद के मस्तिष्क में  होता है.” 

Always be happy with your partner :-

आपको अपने Partner के साथ Present में खुश रहना चाहिए. चूँकि आपकी खुशियों के लिए वर्तमान के साथ कल्पनाओं में बदलाव की रचनात्मकता होना आवश्यक हैं. आपको अपने Partner की वो सारी चीजें पंसद होनी चाहिए. जो उसे पंसद हैं. चाहे तो आप उन चीजों का Note बना सकते हैं. वो कौन-सी चीजें हैं जो आपके बीच मजबूत Bond बनाती हैं. जैसे :-
* मैं एक खूबसूरत रिश्ते में हूँ. यह आपकी कल्पना की First  priority होनी चाहिए.
* मेरे Partner के साथ ऐसा रिश्ता हैं कि इतना प्यारा रिश्ता मैने किसी का नहीं देखा.
* हम दोनों Best friend हैं.
* हम दोनों Soulmate हैं.
* हम दोनों जब बात करते हैं तो एक दूसरे में Confidante होते हैं.
* हम दोनों एक दूसरे की नजदीकी महसूस करते हैं.
* मेरा जो Husband/Wife हैं. वो मेरे लिए Perfect हैं.
* Thank you universe मुझे Best life partner देने के    लिए.
 
ये आपको सामने वाले के लिए नहीं करना हैं. खुद के लिए करना हैं. जब आप ये सारी बाते Feeling के साथ Consistently लिख रहें होते हैं तो उसमें आपकी Feelings डलती चली जाती हैं. और वहीं feelings Universe के माध्यम से आपके Partner तक पहुँचाती हैं. जब आप दूसरो को खुश करने का काम करते हैं. तो कुदरत आपको बदले में ढेरो खुशियाँ जुटाकर देती हैं. 
 
 
दोस्तों, उम्मीद करता हूँ कि Life deovelopment के साथ Professional of personal life पाँस्ट पसंद आई होगी. आपकी प्रतिक्रियाएँ आमंत्रित हैं. हमें आपके सुझाव और शिकायत का बेसब्री से इंतजार रहता हैं. तो बिना देरी किये अपनी प्रतिक्रिया हमें कमेंट के माध्यम से हम तक जरूर पहुँचाएं या आप Merajazbaamail@gmail.com मेल भी कर सकते हैं. ताकि हम और दुगनी रफ्तार से आपके लिए नई जानकारीयों के साथ Post लेकर आ सकें. 
धन्यवाद ! 

Related Articles

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button