जरा हटके

Causes of prevention of depression in hindi

Depression से हर कोई पीडित है. प्रत्येक व्यक्ति किसी न किसी समस्या से ग्रसित है. आज की पाॅस्ट Causes of prevention of depression in hindi के माध्यम से जानेगे की वो कौन से ऐसे कारण है जिनकी वजह से Depression बढ़ता है ? विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक़ दुनियाभर में अलग-अलग उम्र के 26 करोड़ से ज़्यादा लोग इससे पीड़ित हैं.

हालांकि कई मनोवैज्ञानिक ये मानते हैं कि ये संख्या इससे बहुत ज़्यादा हो सकती है क्योंकि कई लोगों को पता ही नहीं होता कि वो depression में हैं.

तनाव लेना सेहत के लिए कितना घातक है, यह तो आप जानते ही होंगे. लेकिन समय रहते अगर इसे सही तरीके से Handle न किया जाए, तो यह न सिर्फ हमारी तरक्की को रोकता है, बल्कि तनाव के कारण हम कई बीमारियों को भी न्यौता दे बैठते हैं.

आइए जानते हैं, तनाव के कारण तथा उनसे कैसे छुटकारा पाया जाए ?

1- How to overcome break up depression

प्यार में दिल टूटने के बाद बहुत दर्द होता है. ऐसा नहीं है कि दिल के दो टुकडे हो जाते है ऐसा होने पर तो हम एक पल भी नहीं जी सकते. मगर Setuation कुछ कुछ ऐसी ही होती है. कुछ लोग तो Berak up से बाहर ही नहीं निकल पाते. तो कुछ लोग खुद को या अपने साथी को नुकसान पहुँचाने की Stage तक पहुँच जाते हैं.

मुझे किसी शायर की चार पक्तियाँ याद आ रही हैं.

     सारे फैसले होते नहीं सिक्के उछाल के,

     ये  दिल का  मामला है जरा  संभाल के ।

     मोबाइल के दौर वालो को क्या मालुम,

     कैसे कलेजा रखते थे खत में निकाल के ।।”

Causes of prevention of depression in hindi

ये आपकी भावनाएँ है जो शब्दो के माध्यम से बाहर आती हैं. हर किसी की भावनाएँ एक जैसी नहीं होती. यह बहुत कुछ आपके आस पास के माहौल और आपकी परवरिश कैसी रही हैं उस पर dipend करता है. जब किसी की मौत हो जाती है तब हम दिल को समझा लेते है क्योकी यह Natural prosses है. जबकि Break up में हम खुद को Handle नहीं कर पाते. हमारे दिमाक में चल रहा होता है कि यदि ऐसा करता तो वैसा हो जाता, जिसकी वजह से इतनी पीड़ा हो रही है. यदि वह Cheating नहीं करता/करती तो मैं उससे दूर नही होता/होती.

ऐसी बहुत सारी Problem होती हैं जिनकी वजह से आप Depression के शिकार हो रहे होते हैं और अपने आप को नुकसान पहुँचा रहे होते हैं. जबकि आपको एक स्थाई समाधान की जरूरत होती है. जो आपके साथ घट रहा होता है वह आखिरी सच का समाधान नहीं है बल्कि उस स्थिति से निकल कर आप नये मुकाम को हासिल कर सकते हैं.

आपने गुरू रंधावा का नाम तो सुना ही होगा. उनकी Girlfriend ने उनको ठुकरा दिया था. गुरू रंधावा का Break up हो गया. लेकिन उन्होने उस लड़की को समझाने में अपना समय नहीं गवाया. वो अपने काम में लगे रहे. आज उनको Singer & stage performer के तौर पर पूरी दुनियाँ जानती हैं और लाखो लोग उनसे मिलने के लिए बेताब रहते हैं.

इसे भी पढ़ेhow to deal with break up in hindi

2- How to overcome depression from divorce

जब एक लड़की और लड़का शादी के बधंन में बंध जाते है तो एक दूसरे से बहुत सारी उम्मीदे भी जुड़ जाती हैं. यह कोई जरूरी नहीं की एक कामयाब जोड़ी के लिए बहुत सारा पैसा होना जरूरी है. यदि ऐसा होता तो दुनियाँ के किसी भी अमीर व्यक्ति का divorce नहीं होता. हर अमीर जोड़ी खुशहाल की जिदंगी जी रही होती. ऐसी बहुत सारी Misunderstanding हो जाती है जिनकी वजह से बात divorce तक पहुँच जाती है.

तो आइये जानते है कि वो कौन सी ऐसी वजह है जिनसे बात divorce तक पहुँच जाती है और हम dipression के शिकार हो जाते हैं ?

1- किसी शारीरिक या उचित कारण के बिना जीवनसाथी के साथ लंबे समय के लिए शारीरिक संबंध न बनाने के एकतरफा फ़ैसले को लेकर मानसिक तनाव  बढ़ जाना.

2. पति या पत्नी का शादी के बाद कोई बच्चा पैदा न करने के एकतरफ़ा फ़ैसले को लेकर मानसिक तनाव बढ़ जाना.

3. लगातर रूखा व्यवहार, चिड़चिड़ापन, बेरुख़ी और उपेक्षा से शादीशुदा ज़िंदगी ऐसी स्थिति में पहुंच जाए जो पीड़ित के लिए असहनीय हो तो ऐसी स्थिति में मानसिक तनाव बढ़ जाना.

4. पति या पत्नी के गहरे शोक, दुख या मायूसी की वजह यदि लंबे समय से उसके जीवनसाथी का बर्ताव है तो इससे मानसिक तनाव बढ़ जाना.

5. लगातार गाली-गलौच और अत्याचार या उत्पीड़न जिससे किसी एक की ज़िंदगी तकलीफ से भर जाए, तो उससे मानसिक तनाव का बढ़ जाना.

6. जीवनसाथी में से किसी एक की मानसिक या शारीरिक सेहत इतनी बिगड़ गई हो, जिसका उचित कारण नहीं बताया जा सकता हो. जिसका ज़िक्र इलाज में बहुत गंभीर तौर पर, ठोस और सख़्त तरीके पर किया गया हो तो ऐसी स्थिति में मानसिक तनाव बढ़ जाना.

और पढ़े: पति पत्नी झगड़े को कैसे खत्म करें ?

ऐसे बहुत से कारण पति पत्नी के बीच हो सकते हैं जिनकी वजह से एक दूसरे के प्रति नफरत पैदा हो जाती हैं. एक दूसरे के लिए लगाव कम हो जाता हैं. ऐसे में जरूरी है कि वो एक दूसरे में कमियों को ढूढ़कर उन्हे दूर करे तथा एक दूसरे का साथ देकर अपनी जिंदगी की गाड़ी को प्रेम पूर्वक आगे बढ़ायें.

3- How to overcome depression of love failure

अब शोधकर्ताओं का भी मानना है कि depression का सबसे बड़ा कारण है “प्यार में हार”. Stenford विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ मेडिसिन ने इस बात को साबित करने के लिए 1,000 जोड़ों पर एक शोध किया. जिनसे depression के कारणों पर तरह-तरह के प्रश्न पूछे गए. शोध के आंकड़ों का निरीक्षण करने के बाद पाया गया कि लगभग 42% जोड़ों का मानना था कि प्यार में नाकामयाबी depression का सबसे बड़ा कारण है. जबकि 18% का कहना था कि ऑफिस या किसी कार्य में नाकामयाबी उनको depression देती है.

आज की Young genration अपने साथ एक पार्टनर रखना चाहती है. ऐसा जरूरी नहीं कि यह सब चाहते है लेकिन अधिकतर युवा पीढ़ी में यह आम बात हो गई है. यदि आप लड़का है तो आपको लड़की मित्र की जरूरत महसूस होती है और यदि आप लड़की है तो आपको लड़का मित्र की जरूरत महसूस होगी. क्योकी यह Trande बन चुका है इसलिए इतना बुरा महसूस नहीं चलता. लेकिन जो अपने पार्टनर को खोजने में असफल होते हैं. वह depression के शिकार हो जाते हैं. बची कुची कसर आपके दोस्त तायना मारकर पूरा कर देते हैं. लेकिन आपको एक बात याद रखनी चाहिए, जो मित्र आपको सही राह न बता सकें…जो आपका साथ न दे सके तो ऐसी मित्रता से क्या फायदा ??

प्यार मे हार का depression जब दिल और दिमाक में घर कर जाता है तो उसके जीवन पर जबरदस्त प्रभाव पड़ते हैं. जैसे :-

  • हम खुद के लिए हिनता महसूस करने लगते है.

  • हम खुद को दुसरो से कम सुदंर या कम अच्छा आंकने लगते है.

  • जब किसी से बात करते है तो Confidence की कमी महसूस होने लगती है.

  • हमे अकेला रहना पसंद करते हैं.

  • रोजमर्रा के काम काज तथा आपके आचरण में बदलाव आ जाता है आदि.

मानसिक तनाव से घिरे हुए व्यक्ति के सोचने समझने की क्षमता भी प्रभावित होती है वह बुरे-भले में अंतर नहीं समझ पाता है, जिसके कारण उसकी हार होती रहती है.

शोधकर्ताओं का यह भी कहना है कि अगर आप depression से प्रभावित हैं तो किसी मनोचिकित्सक की सलाह ज़रूर लें. इसके अलावा रोज़मर्रा के व्यायाम, योगा या लाइफस्टाइल में बदलाव के द्वारा आप depression पर विजय पा सकते हैं.

और पढे़दर्द के पाँच भावनात्मक कारण जिन्हे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए

4- overcome depression after delivery

अगर आप महिला है तो आप इस Situation से जरूर गुजरी होगीं. आपके relative तथा आपके घर वाले आपसे बहुत सारी उम्मीदे पाल लेते है. जब उनकी उम्मीदे टूटती है तो निराश होते है और इसका असर वो आपको भला बुरा कहॅ कर पूरा करते हैं. आपके लिए उनका बर्ताव बिल्कुल बदल जाता है जबकि इसमे आपकी कोई कमी नहीं होती. लेकिन लोगों की प्रतिक्रियाएं आपके लिए भयावय हो जाती हैं. आप Depression में रहने लगती हैं. बहुत से पुरूष अपनी संतान को लेकर खुश नहीं होते. किसी को लड़की चाहिए होती है तो किसी को लड़का. रंग सांवला हो गया तो परेशानी. ऐसी ढ़ेर सारी अनावश्यक शिकायत कर खुद व दूसरो के लिए depression का कारण बन जाते हैं.

मां बनना जितना खूबसूरत एहसास है, उतना ही मुश्किल भी.  एक नये और नन्हें बच्चे को इस दुनिया में लाकर दुनियाॅ को समझने और जीने के काबिल बनाना शायद सबसे बड़ी चुनौती है. ये कह कर, कि ‘अरे बच्चे तो पल जाते हैं…’ बचा नहीं जा सकता, क्योंकि बच्चे पलते नहीं उन्हें पालना पड़ता है और उसके लिए सबसे बड़ी भूमिका निभानी पड़ती है माँ को. लेकिन ऐसा हर बार नहीं होता कि एक नई बनी मां भी अपनी इस जिम्मेदारी को निभाने के लिए शारीरिक और मानसिक दोनों रूपों में तैयार हो. जहां कोई जगह खाली रह जाती हैं, वहीं शुरू होता है depression का द्वंद.

Delivery के बाद depression को दूर करने के लिए माँ ऐसे रखे अपना ख्याल ….

  • प्रसव के बाद की देखभाल में पर्याप्त रूप से नीद पूरी लें.

  • पोस्टपार्टम depression का इलाज के लिए व्यायाम करें.

  • अपने खान पान पौष्टिक आहार पर ध्यान दें.

  • आप अपने पार्टनर के साथ रिश्ते को महत्व दें.

  • आप अपनी जिम्मेदारियों का बोझ अपने पार्टनर के साथ जरूर साझा करें.

delivery बेहद ही कठिन प्रक्रिया है. डिलीवरी के बाद एक औरत के शरीर में कई तरह के नये हार्मोन्स बनते और बिगड़ते हैं. कभी-कभी ये हार्मोंन्स पॉज़िटिव न होकर नैगेटिव हो जाते हैं, जो कि शरीर के साथ-साथ मानसिक कष्ट पहुंचाना शुरू कर देते हैं और वो कष्ट होता है, depression.

दोस्तों !! आपको हमारी पाॅस्ट Causes of prevention of depression in hindi पसंद आई होगी. यदि आपके मन में कोई सवाल या सुझाव है तो आप कमेंट करके अपने सुझाव दे सकते हैं. आप हमें Merajazbaamail@gmail.com पर मेल भी कर सकते हैं. आपकी प्रतिक्रियाएं हमारे लिए महत्व रखती हैं.

यदि आपके पास कोई प्रेरणादायक लेख, कहानी, कविता है तो आप हमारे साथ साझा कर सकते हैं. पसंद आने पर आपकी पाॅस्ट आपके नाम के साथ पब्लिश की जायेगी.

                                                      धन्यवाद !!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button