जरा हटके

आरोग्य सेतु ऐप की महत्वपूर्ण जानकारियां

Aarogya Setu App Important Information in Hindi

Play store में टाइप कीजिएं Aarogya setu aap उसके बाद एक ‘दिल का आइकन’  दिखाई देगा. जो ऊपर से केसरिया और नीचे की ओर Right का मार्क लगा होगा. यह एप 2.6 mb का है. अभी तक 50 मिलियन अर्थात 5 करोड़ से अधिक लोग इसे Install कर चुके हैं.

जैसे ही यह ऐप डाउनलोड हो जायेगा. उसके बाद आपको भाषा चुनने का Option मिलेगा. आप भारत की 11 अलग-अलग भाषाओं में से कोई एक चुन सकतें हैं.
उसके बाद आपको कुछ जरूरी जानकारी और निर्देश दियें जायेगें. जिनका आपको अनुपालन करना होगा. जैसे :-
* हम सभी में भारत में फेल रही कोरोना महामारी रोकने की क्षमता है.
* क्या आप चाहते है कि यह जानरारी आपको मिले कि कहीं आपके सम्पर्क में आया हुआ कोई व्यक्ति COVID-19 पाँजिटिव तो नहीं पाया गया है.
इस प्रकार के आपको दो संदेश मिलेगें और नीचे आगे जाने के लिए बटन दिया होता हैं. जिस पर आपको Click करना हैं.
उसके बाद :-
* ब्लूटूथ और लोकेशन जेनेरेटेड सोशल ग्राफ की मदद से आरोग्य सेतु कोरोना पाँजिटिव लोगों के साथ आपके संभवत: संपर्क को ट्रैक करता है.
१- एप को Install करें.
२- ब्लूटूथ और लोकेशन को स्विच आँन करें.
३- अपनी लोकेशन शेयरिंग को ‘Alwags’ पर सेट करे.
ऐप को Install करने के लिए अपने दोस्तों और परिवार वालो को आमंत्रित करें.
इन Option को पढ़ने के बाद आपको नीचे दियें गयें आगे वाले बटन पर Click करना है.
यदि आप जाने-अनजाने में किसी Covid-19 पाॅजिटिव व्यक्ति के सम्पर्क में आते है. तो आपको सूचित किया जायेगा.
ऐप अलर्ट के माध्यम से निर्देश दिये जायेगें. यदि आपको सेल्फ-आइसोलेट होने की आवश्यकता है या आप Covid-19 के लक्षण विकसित होते है, तो उस स्थिति में साहयता की जाएगी.
तत्तपश्चात आपको आगे बढ़ना है और नीचे आगे वाले बटन पर Click करना है.
आरोग्य सेतु एप के साथ आप स्वंय की, अपने परिवार और मित्रों की Covid-19 से सुरक्षा कर सकते है. और राष्ट्र को इससे लड़ने में साहयता कर सकते हैं.
        हम सुरक्षित, तो भारत सुरक्षित
यह पढ़ने के बाद आपको नीचे रजिस्टर बटन पर Click करना है.
Allow Arogay setu app enable to bluetuth को Agree करना है.
उसके बाद गोपनियता के निर्देश, मोबाइल लोकेशन, ब्लूटूथ तथा डाटा शेयरिंग इन सभी चीजों पर सहमती मांगी जायेगी.
जैसे ही मैं सहमत हूँ पर Click करेगें. ये तीनो चीजें आप से एक बार पुन: Text msz में अनुमति माँगी जायेगी. उसके बाद आपका मोबाइल नम्बर माँगा जायेगा. नम्बर Add करते ही आपके नम्बर पर OTP मिलेगा. OTP स्वत: ही Add हो जायेगा.
अब आपका आरोग्य सेतु ऐप आपके मोबाइल में चालू हो चुका है. आप यहाँ बहुत सी जानकारियों का लाभ ले सकते हैं.
इसके बाद आप अपनी स्थिति चैक कर सकते है.
स्वंय परिक्षण कर सकते है.
कोविड अपडेट्स की जानकारी ले सकते है.
ई-पास बना सकते है.
आप अपने स्वास्थ्य का Test दे सकते हैं. Test देने के लिए आपसे कुछ प्रश्न पूंछे जायेगें. जिन्हे आपको पूरी  ईमानदारी से देने होगें और वह प्रश्न कुछ इस प्रकार होगें.
सबसे पहले आपका नाम, लिंग, उम्र पूंछी जायेगी. तत्पश्चात कुछ प्रश्न इस प्रकार होगें –
*  क्या आप नीचे लिखे लक्षणो में से किसी का अनुभव कर रहें है ?
A खांसी   B बुखार C सांस लेने में दिक्कत D इनमे से कोई भी नहीं.
* क्या आपको कभी नीचे लिखे हुए रोग में से कुछ भी कभी हुआ है ?
A मधुमेह B उच्च रक्त चाप/हाइपरटेंशन C फेफड़ो की बिमारी D दिल की बिमारी E इनमें से कोई भी नहीं.
* क्या आपने पिछले 14 दिनो में विदेश की यात्रा की है.
A हाँ  B नहीं
* नीचे दिये गये विकल्पों में से कौन सा आपके लिए लागू होता है.
A हाल ही में किसी Covid-19 पाँजिटिव व्यक्ति से मिलना हुआ है या ऐसे किसी व्यक्ति के साथ रहा हूँ.
B मैं स्वास्थ्य कर्मचारी हूँ और मैने सुरक्षात्मक गियर के बिना एक Covid-19 पुष्ट मामले की जाँच की.
C इनमें से कोई भी नहीं
आपका संक्रमण का जोखिम कम है. हम अनुशंसा करते है कि आप कोविड कोरोना वायरस के सम्पर्क के किसी भी अवसर से बचने के लिए घर पर रहें. यदि आप लक्षणो का विकास करते है या किसी Covid-19 की पुष्ट रोगी के संपर्क में आते है तो स्वत: निर्धारण टेस्ट को दोबारा लें.
यदि अगले दो हफ्तो में खांसी, बुखार या सांस लेने में कोई कठिनाई महसूस होती है तो आपको तुरंत परिक्षण के लिए जाना चाहिए.
अगर आप बिल्कुल ठीक है तो You are the safe green colour में लिखा हुआ आ जायेगा.
यदि पीला रंग दिखाया जाता हैं तो उस पर You are at high risk लिखा आ जायेगा.
तब ऐसी स्थिति में आपको कोविड-19 हेल्थ सेंटर्स पर क्लिक करना होगा.
अगर केसरिया रंग में रिजल्ट आया हैं तो आपको Home क्वारंटिन करना होगा और जरूरी दिशा निर्देशों का पालन करना होगा.
यदि लाल रंग आता है तो आप कोरोना पाँजिटिव है.
कुछ लोग इस ऐप को लेकर डरे हुए क्योकि उन्हें अपने डेटा चोरी होने का खतरा महसूस हो रहा हैं तो वहीं कुछ लोग स्मार्ट फोन न होने की वजह से डाउनलोड नहीं कर पा रहे हैं.

BBC न्यूज रिपोर्ट के अनुसार निजी डेटा की सुरक्षा का क्या?

भारत सरकार का कहना है कि इस ऐप के ज़रिए कोरोना संक्रमित लोगों और होम क्वारंटीन पर रखे गए लोगों पर नज़र रखी जा रही है और ये ऐप यूजर्स की निजता को ध्यान में रखकर बनाया गया है.

विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना वायरस जैसी महामारी की आपात स्थिति से निपटने के लिए भले ही सरकार का यह क़दम एक हद तक सही लग रहा हो लेकिन अगर लोगों की निजता की बात की जाए और जो जानकारी सरकार इकट्ठा कर रही है उसका इस्तेमाल कब तक होगा और कैसे होगा इसे लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है जो चिंता का विषय है.

कुल मिलाकर अभी सरकार जो कहं रहीं हैं उसी में देश की भलाई है. इसलिए आप ऐप को इस्टांल कर अपने स्वास्थ्य की जानकारी सरकार तक पहुँचायें. जिससे जल्द से जल्द इस बिमारी से छुटकारा पाया जा सकेंं.

 

आप यहाँ लिंक पर क्लिक करके आरोग्य सेतु ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button