कारोबार

Tilak Mehta : 13 वर्ष के बच्चे ने कर दी 100 करोड़ की कंपनी खड़ी और 200 लोगों को नौकरी पर भी रखा है

Tilak Mehta : कहते हैं ना कोई भी अच्छा काम करने के लिए उम्र सीमा तय नहीं होती है। छोटी सी उम्र में भी 1 बच्चे ने एक ऐसा काम कर दिखाया है जिसको देखने के बाद सब लोग हैरान रह गए हैं। जी हां मुंबई के रहने वाले तिलक मेहता जिनकी उम्र केवल 13 वर्ष की है। उन्होंने इस उम्र में 100 करोड़ की कंपनी खड़ी कर दी है। कहते हैं केवल इस उम्र में बच्चे खेलकूद पढ़ाई और मस्ती किया करते हैं। इस उम्र में तिलक मेहता ने 200 से भी ज्यादा लोगों को रोजगार दिया है।

तिलक मेहता को अपने बिजनेस का आईडिया अपने पिता के थकान से आया था। दरअसल तिलक के पिता विशाल मेहता जब शाम को ऑफिस से आते थे तो काफी थक जाते थे। इस वजह से तिलक कभी अपने पिता से बाहर जाने या कोई सामान लाने के लिए नहीं कहता था। कई बार तो तिलक अपनी कॉपी और कलम लाने के लिए भी पिता से नहीं बोलते थे।

Tilak Mehta

Tilak Mehta : इस समस्या का उपाय सोचा

इसके बात तिलक मेहता ने इस समस्या का उपाय सोचा और यह सोचा कि इस समस्या से सभी लोग सोचते होंगे। जो लोग ऑफिस जाते हैं वह थक कर लौटते हैं तो अपनी पिता की हालत देखकर घबरा जाते होंगे। इसके बाद उन्हें एक बिजनेस का आईडिया आया और उन्होंने कोरियर सर्विस की शुरूआत की। इसमें उनके पिता ने भी उनकी मदद की तिलक की मुलाकात बैंक अधिकारी घनश्याम पारेख से करवाई। जिन्होंने बिजनेस आइडिया सुनकर नौकरी छोड़ दी और तिलक के साथ बिजनेस जॉइन करने का मन बनाया।

तिलक ने अपनी कंपनी का नाम पेपर एंड पेंसिल रखा और घनश्याम को कंपनी का सीईओ बनाया। फिर बाद में इस कंपनी ने बुटीक और स्टेशनरी शॉप वालों से छोटे-छोटे ऑर्डर लिए। इसके लिए मुंबई के डिब्बे वालों की मदद से सामान की डिलीवरी में मदद दी। इससे लोगों का अच्छा रिस्पांस मिला और उन्होंने अपने काम को फिर से और आगे बढ़ाया। तिलक की कंपनी आज 200 से ज्यादा लोगों को रोजगार दे रही है और उनके करीब ₹300 डिब्बेवाले जुड़े हैं। तिलक की कंपनी का सालाना टर्नओवर की बात की जाए तो 100 करोड रुपए है जिसे वह 200 करोड़ के पार पहुंचाना चाहते हैं।

Also Read : मेहनत के दम पर DVC कर्मी की बेटी ने पाई बड़ी सफलता, माइक्रोसॉफ्ट कंपनी में मिला 51 लाख का पैकेज

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button