कारोबार

गूगल की नौकरी छोड़कर मुनाफ कपाड़िया ने किया समोसा निहारी खिलाने का काम आज मूवी स्टार्स भी है उसके फैन

गूगल में काम करना कोई छोटी बात नहीं होती है क्योंकि वहां पर नौकरी मिलना आसान नहीं होता है और ऐसा कहा जाता है जिन्हें वहां पर नौकरी मिल जाती है वह किस्मत वाला ही होता है, लेकिन एक लड़के ने जो गूगल में काम करता था उसने वहां पर नौकरी छोड़ दी, ऐसा इसीलिए हुआ क्योंकि उसे समोसे बेचने थे। आज वह अपने इस काम में इतना सफल है कि उसकी चर्चा बॉलीवुड तक पहुंच गई है। जी हां यह बिल्कुल सच है यह कहानी है मुनाफ कपाड़िया की जिन्होंने The bohri kitchen के नाम से लोगों को खाना खिलाना शुरू किया और धीरे-धीरे उनकी चर्चा गलियारों में होने लगी।

एक इंटरव्यू में बात करते हुए मुनाफ कपाड़िया ने बताया कि कुछ समय पहले उन्होंने अपने बर्थडे पर कुछ दोस्तों को अपने घर खाने पर बुलाया था। दोस्तों को मुनाफ की मां के हाथ का खाना बना हुआ इतना पसंद आया कि वह उसे भूल ही नहीं पाए। मुनाफ की मां नफीसा को खाना बनाने का बहुत ही शौक था और यहीं से शुरूआत हुई बोहरी किचन की।

मुनाफ कपाड़िया

मुनाफ कपाड़िया घर पर ही होटल डाइनिंग एक्सपीरियंस की शुरुआत कर दी

दोस्तों की तारीफ मिली उसके बाद मुनाफ ने अपने घर पर ही होटल डाइनिंग एक्सपीरियंस की शुरुआत कर दी थी। उन्होंने घर पर होटल एक्सपीरियंस देने के लिए कुछ दोस्तों को फोन किया और ईमेल भी किया। 2 घंटे के अंदर ही बहुत सारे दोस्तों और जान पहचान वालों की तरफ से कॉल आने लगा। लोगों ने खाने को बहुत ही पसंद किया। मुनाफ इस वक्त भी गूगल में जॉब कर रहे थे लेकिन दोस्तों से अच्छा फीडबैक मिलने के बाद मुनाफ ने हर हफ्ते ऐसा ही एक डायनिंग एक्सपीरियंस अपने घर पर रखने का फैसला किया। इसके बाद धीरे-धीरे इस किचन की तारीफ बढ़ती गई और कई पत्रकार तक उनसे बात करने पहुंच गए।

2015 तक पूरे मुंबई और आसपास के इलाकों में मुनाफ कपाड़िया की किचन की तारीफ होने लगी। यहां पर मैन्यू में 100 चीजों की लिस्ट थी। रानी मुखर्जी, रितिक रोशन जैसे बड़े बड़े सितारे भी उनके खाने के दीवाने है।

Also Read : Kakasaheb Sawant : ऑटो मोबाइल कंपनी की नौकरी छोड़ लिया खेती का फैसला, आज आम की खेती से महीने के 50 लाख कमाते हैं काकासाहब सावंत

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button