कारोबार

क्या आप जानते हैं ईस्ट इंडिया कंपनी जो कभी भारत पर राज करती थी उसे एक भारत के व्यापारी ने 20 मिनट में खरीद लिया था

ईस्ट इंडिया कंपनी का नाम लगभग सभी लोगों ने सुना ही होगा जी हां यह वही कंपनी है जिसने भारत पर 200 साल तक राज किया था। इसी बीच लाखों भारतीय वर्षों से ईस्ट इंडिया कंपनी के गलत फैसलों के शिकार हुए थे। अपने ही देश में अंग्रेजों का दमन सहना पड़ा था, लेकिन देश के क्रांतिकारियों ने इसे स्वीकार नहीं किया था, इसीलिए 1857 में देश के वीर क्रांतिकारियों ने स्वतंत्रता संग्राम का बिगुल बजाया।

अब बरसो बाद राज करने के बाद ईस्ट इंडिया कंपनी की कमान भारतीय के हाथों में आ गई है। भारत के इस बिजनेसमैन का नाम संजीव मेहता है। 1947 के बाद ईस्ट इंडिया कंपनी का पतन होना शुरू हुआ और इस कंपनी की आर्थिक स्थिति खराब होने लगी। इसी बीच ब्रिटिश सरकार ने भी मदद करने से मना कर दिया। ईस्ट इंडिया कंपनी नाम पूरी दुनिया में मशहूर था इसीलिए ब्रिटिश सरकार ने इसे पूरी तरह बंद नहीं होने दिया।

ईस्ट इंडिया कंपनी

ईस्ट इंडिया कंपनी की आर्थिक स्थिति खराब

2003 में संजीव मेहता को पता चला कि दुनिया पर राज करने वाली कंपनी की आर्थिक स्थिति बहुत ही खराब है तो उन्होंने कार्यालय में जाने का फैसला किया। इसी बीच संजीव इस विचार के साथ ईस्ट इंडिया कंपनी के कार्यालय में गए कि वह उसे खरीद कर ही वापस आएंगे।

संजीव ने बताया कि “मैं ईस्ट इंडिया कंपनी के कार्यालय में केवल 20 मिनट था इसी बीच पहले 10 मिनट में ही मुझे एहसास हो गया था कि कंपनी की आर्थिक स्थिति काफी खराब है” कंपनी को बेचने की उम्मीद थी और बातचीत के दौरान मैंने टेबल पर पड़े नैपकिन पेपर को उठाया और उस पर कीमत लिख दी। इस कीमत को देखकर ईस्ट इंडिया कंपनी के मालिकों ने 21% शेयर बेचने का फैसला किया।

एक बार फिर से ईस्ट इंडिया कंपनी को भारत में देखना बहुत ही दिलचस्प होगा, क्योंकि भारत मे बहुत ही जल्द एक स्टोर खुलने जा रहा है। इसमे कपड़े खाने पीने के समान से लेकर फर्नीचर घरेलू सामान मिल जाएगा लेकिन इस बार मालिक अंग्रेज नहीं बल्कि भारतीय होगा।

Also Read : Mineral Water Business : जानें कैसे आप भी कम निवेश में RO या मिनरल वाटर का व्यापार कर पा सकते हैं सफलता

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button