कैसे बने Smarter Faster Better ?

Charles duhigg जब अपनी amassing book ' the power of habit ' को खत्म कर रहे थें | तब से ही उन्हें science of productivity में बहुत ...

Charles duhigg जब अपनी amassing book ' the power of habit ' को खत्म कर रहे थें | तब से ही उन्हें science of productivity में बहुत interest आ गया था | और उसके बाद उनकी life में बहुत कुछ होनें लगा | क्योकि उनकी book को जबरदस्त success मिल गई थी | और कई बड़ी opportunities मिलने लगी थी | जिसकी वजह से उनके ऊपर कई responsibility आने लगी अलग - अलग कामो की | जो वो अच्छे से handle नहीं कर पा रहे थे | उनका time बहुत जल्दी खत्म होने लगा था | और उनके काम बढ़ते ही जा रहें थें | insure उनकी productivity भी बहुत कम हो गई थी | जिसकी वजह से वो अपनी success life को enjoy भी नहीं कर पा रहें थे |  इसलिए वो डा० ' 'अतुल गावड़े' के पास गये |
' अतुल गावड़े ' एक सर्जन हैं, staff writer, best selling author, Harvard professor, और world health organization के adviser थे | जो इतने busy रहने के बावजूद इतने productive थे कि वो अपने टाइम को इतने अच्छे से use करना जानते थे | कि वो सारी post को handle करने के बाद भी वो अपने बच्चो के साथ Rock concert में जाते थे और अपनी wife के साथ time to time Mini vacation पर भी जाते थें | अपनी success life को enjoy करते हुए....इसलिए यह सब जानने के बाद Duhigs convince हो गये कि कुछ लोगों में productivity होती हैं | जो उन्हें दुसरों से अलग बनाती हैं |
उसके बाद Duhigg इसी के बारे में सर्च करने लगें ....उन्होनें कई highly लोगों के interview लियें |जिसमें कई Airline pilot, military journals, तथा scientist भी थे जिनसे उन्होने बहुत कुछ सीखा और ऐसे ही सीखते - सीखते 3 key areas मिले जिन पर focus करके कोई भी अपनी productivity बढ़ा सकता हैं |

Must Read:    (Students जरूर पढ़ें)



1 - Motivation Power of Choice :-
   

एक study की गई थी कुछ लोगों पर....study एक दम simple थी उन्हें एक game दिया गया था | कम्प्यूटर मे 1 to 10 में से कोई एक नम्बर आयेगा और उस नम्बर के आने से पहले उन्हें guess करना होगा कि वो पाँच में से ज्यादा होगा या कम होगा .....अगर वो सही guess करेगें तो वो जीत जाएँगें...नहीं तो हार जाएँगें |
यह simple सा खेल को खेलते समय उनके brain activity पर भी नज़र रखी जा रहीं थी MRI Scanner help से....इससे यह बात सामने आई कि  जब उन लोगों के पास choice करने का समय आता था | तब उनके brain के एक पार्ट striatum जो motivation के लिए responsible होता हैं वो एक दम active हो जाता था | लेकिन जब वही खेल कम्प्यूटर को खुद चुनने के लिए छोड़ दिया जाता और कोई choices भी नही दी जाती थी केवल result का इतंज़ार करते थे तो ऐसा करने पर उनके brain के motivation से related part में activity होना बंद हो जाती थी |
        Study से यह पता चला कि इंसान के पास ज्यादा कुछ करने की choice नहीं रहती हैं या option नहीं होगें या फिर उसे ऐसा feel होगा कि उसे ज्यादा कुछ करने के लिए नहीं हैं तो उसका motivation कम होगा | लेकिन उसके सामने हर दिन कई choice रखें तथा कई decision लेने पड़े तो motivation भी ज्यादा होगा |
Ex - एक couple की edge 30-40 के around था | वो पीछले तीस साल से खुशी ज़िदंगी बिता रहा था एक - दुसरे के साथ
लेकिन अचानक उनके हसबैड़ को यहीं problem हो गई | उनका पूरा motivation खत्म हो गया था | तब उनकी wife बहुत परेशान हो गई थी | इस situation में better करने के लिए बहुत कुछ किया लेकिन उसका कोई फायदा नहीं हुआ | finally उन्होने अपने पति का motivation वापस लाने के लिए हर दिन पति का decision लेना और choices लेना बढ़ा दिया |
जैसे :- आज तुम्हें यह शर्ट पहननी हैं या वो टिशर्ट पहननी हैं.....तुम्हे आलू की सब्जी खानी हैं, या दाल- रोटी खाना हैं | ऐसे कई choice देनें लगी अपने पति को , धीरे - धीरे उनके पति ठीक होने लगें | इससे यह साबित होता हैं कि आपको सामने वाले से काम करवाना हैं तो उसे option दो |
Ex - एक बच्चे को order देने की वजह उसे option दो | जैसे - बेटा , मार्केट जाकर सब्जी लाना पसंद करोगें या घर पर रहकर सफाई करना पसंद करोगें |
Better chance him doing the work predictively ऐसे काम में chances ज्यादा हो जाएँगें आपके काम कराने के | काम कोई भी होगा फायदा तो parents का ही होगा |

Must Read :    (कुछ विशेष लेख जो युवाओं को प्रेरित करेगी)

2 - Team :-
     

आपने देखा होगा जब लोग parents के साथ रहते हैं तब एक दम अलग behave करते हैं | पर जब वहीं लोग अपनें friends  के साथ time spend करते हैं तो एक दम अलग इसांन बन जाते हैं | ज्यादा open रहते हैं और ज्यादा risk लेते हैं | ऐसा इसलिए होता है कि हम parents के साथ ज्यादा safe feel करतें हैं | यहॉ हम आपकी जान की बात नहीं कर रहें बल्कि phychology safety की बात कर रहे हैं | जिसका meaning कुछ ऐसा होता हैं कि आप friend के साथ ज्यादा experience, thinking & believe हमसे ज्यादा मिलती हैं | इसलिए हम ज्यादा open हो पाते हैं |
आज नहीं तो कल आपको एक team में ही काम करना होगा | अगर आप चाहते हो कि आप और आपकी team का काम productivity के साथ हो तो आपको team में सभी को friend वाली psychology safety feel हो | जहॉ अपने openly idea express कर पाये | क्योकि जब हमें ऐसी safety feel होगी तभी हम best performance दें पाऐगें |
         यही नियम Google ने भी लागू कियें | जब वो search कर रहे थें कि एक perfect team कैसे काम कर सकती हैं | तो उन्होनें 5 key factor निकाले | जिसमे से उन्हें psychology safety best idea मिला |

Must Read :    (सफलता के लिए आचार्य चाणक्य की जीवनी जरूर पढ़ें)

3 - Focus mental modelling :-
     

1 June 2009 को air French की flight ब्राजील से पेरिस जा रही थी | journey start होने के कुछ देर बाद ही वो plane एक बड़े तूफान में घुस चुका था | जिसकी वजह से  plane का auto pilot अचानक बंद हो गया | plane एक तरफ झुकने लगीं | pilot को कुछ समझ नहीं आ रहा था कि plane की speed बढ़ाये या कम करें | क्योकि उनका speed meter भी बराबर काम नही कर रहा था | इसलिए दोनों pilot confuse और घबरा गये थे | उन्हें तब plane की nose को नीचे करके speed बढ़ानी चाहिए थी | मगर वो नीचे करने की वजह ऊपर करने लगें | जिससे plane की speed कम होने लगी और उनका plane अटलांटिक महासागर में crash हो गया | इसमें दोनो pilot और passengers की मौत हो गई |
        इसी की उलट इससे भी बड़ा incident हुआ था | यह air bus सिगांपुर से सिड़नी जा रही थी | journey होनें के कुछ देर बाद ही अचानक उसके एक इजंन में आग लग गई | pilot ने एक दम कट्रोल अपने हाथ में ले लिया |control penal पर बहुत सारे error आने लगें.....alarm बजनें लगें | plane इतनी problems में आ गई कि उन सब को handle करना impossible था | monitor पर एक-एक करके new error show होते  ही जा रहें थें | लेकिन इन सब के बावजूद pilot ने अपने ऊपर control किया | वो घबराये नहीं और अपनी training experience पर plane को सही सलामत सिगांपुर landing की एक successful landing बनाते हुए | 500 लोगों की जान भी बच गई |
इन दोनो प्लेनो में Malfunction हुआ था | पर दोनो में अलग था तो वो था pilot का situation control करने का तरीका |
पहले वाले plane के pilot situation control नहीं कर पायें | क्योकि वो एक ऐसे mental error से सफर कर रहें थे जिसे बोलते हैं cognitive tunneling . ये situation तब आती हैं जब brain relax stand से panic stand में आ जाता हैं  | ऐसी situation में normal इसांन को चीजे समझ नहीं आती और वो बहुत गलत decision लेने लगता हैं |
दुसरी तरफ के pilot पहले ही incident की situation को इसलिए handle कर पायें कि उनके main pilot ने एक ऐसे concept का use किया जिसे बोलते हैं mental modelling.
यह एक तरह visualisation जैसा ही होता हैं | जहॉ इसांन पहले ही visualise करके रखता हैं | सारे out come visualized , all possible outcome, if he has to deal with it .
इसलिए आप अपनी productivity बढ़ाने के लिए पहले ही दिमांक में visualization करो |

Must Read:    (किसी भी तरह से ज़िन्दगी में तनाव है या आप परेशान हैं तो यह लेख जरूर पढ़ें )

Note - यह three key ' Charles duhigg ' की book 'The Power of Habit' से प्रेरित हैं |

आपको हमारी पाँस्ट पसंद आई हो तो हमें कमेंट बॉक्स में बतायें | तथा अपने दोस्तों में शेयर करें और हमें अपने सुझाव दें | क्योकि आपके सुझाव हमारे लिए बेहद ही कीमती हैं | और आपके like से हमें पता चलता है कि आपको हमारी  पाँस्ट पसंद  आ रही हैं |

यदि आपके पास भी कोई प्रेणादायक लेख या कोई ऐसी inspirational story हैं जिसे आप दुसरों तक पहुँचाना चाहते हैं तो आप हमें अपने नाम और photo के साथ  हमें  merajazbaamail@gmail.com पर लिख भेजिएं | पाँस्ट पसंद आने पर हम यहॉ पब्लिश करेगें |

COMMENTS

You May Also Read$type=carousel

Name

Biography,2,Blogging,2,Business,2,Chanakya,1,Discovery,1,Festival in Hindi,1,Google,1,Health,1,Hindi Story,6,Holi,1,Inspirational Article in Hindi,7,Love,1,Mera Jazbaa,30,Miscellaneous,4,Motivation,14,Motivational Story in Hindi,8,Personal Development,17,Poem,1,Poetry,1,Quotes,3,Relationship,1,Self Help,15,Story,5,Success,17,Valentine's Day in Hindi,1,Youth,1,अनोखी बातें,1,उत्सव,1,कविता,1,खोज,1,जीवन परिचय,1,थॉट्स,1,प्यार,1,प्रेरक कथा,5,ब्लॉगिंग,2,वैलेंटाइन डे,1,व्यापार,1,सफलता,15,सुविचार,2,सेहत,1,हिंदी कहानी,7,
ltr
item
MeraJazbaa.com: कैसे बने Smarter Faster Better ?
कैसे बने Smarter Faster Better ?
https://3.bp.blogspot.com/-_848Yx8MlOA/WomsaPxqG5I/AAAAAAAAADo/PIB9OUdcS2kEMe9r63tZkOOLiDE_HLv6wCLcBGAs/s1600/smarter%2Bbetter%2Bfaster%2Bhindi.jpg
https://3.bp.blogspot.com/-_848Yx8MlOA/WomsaPxqG5I/AAAAAAAAADo/PIB9OUdcS2kEMe9r63tZkOOLiDE_HLv6wCLcBGAs/s72-c/smarter%2Bbetter%2Bfaster%2Bhindi.jpg
MeraJazbaa.com
https://www.merajazbaa.com/2018/02/smarter-faster-better-hindi.html
https://www.merajazbaa.com/
https://www.merajazbaa.com/
https://www.merajazbaa.com/2018/02/smarter-faster-better-hindi.html
true
8369013042356023338
UTF-8
Loaded All Posts Not found any posts VIEW ALL Readmore Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow THIS CONTENT IS PREMIUM Please share to unlock Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy